astro · astro counselor · astrologer · astrology · Black Magic · Coach · Counselling · curse · Delhi · energy · Evil Eye · healer · Healing · Hindi · Karmalogist · life coach · Master · mentor · Napoo · New Delhi · occult · Paschim Vihar · spirits · Spiritual · Spirituality · therapist · Uncategorized · vijay batra · yantra

Napoo Healing Expert (Paranormalist) – Vijay Batra Karmalogist

Napoo Healing Expert (Paranormalist) – Vijay Batra Karmalogist

Vijay Batra karmalogist says that our body is made of five elements, like, fire, air, water, earth and sky. When someone is attacked by negative force, body elements get imbalanced which cause mental, physical and social problems. If, all elements are balanced then we will not suffer from any problem.

Napoo healing eradicates all types of negative effects- evil eye, curse, black magic, spells, spirit attacks through element based scientific techniques and it creates strong aura layers for further protection from paranormal world.

When medical tests are unable to identify reason of emotional and physical suffering(s) and popular remedies fail against problems, this is a symptom that problems are related to evil eye, Curse, black magic or spells.

These are few more symptoms which confirm that You require Napoo healing immediately :

  • Increase in negativity and problems despite chanting of prayers or mantras
  • Fulfilment of every negative spoken thing
  • No benefit of religious activities and good deeds
  • Hearing about others’ problem leading to that same problem in your life as well

Napoo healing is an effective way of dealing with negativity, fear, doubts, emotional issues and troubled personal relationships. It is a form of art to provide people succour against negative energy, which often creates major hurdles in all areas of life and spreads negativity in everyone’s life.

Napoo healing expert (Paranormalist) Vijay Batra ‘Karmalogist’ provides Napoo healing weekly and monthly program for personal protection and family protection; and also offers quality assistance in various aspects of life such as Relationships, Stress, Confusion, Distraction, Mistakes, Sins, Guilt, Fear and other problems. Napoo healing opens up the window to a peaceful, happy and stress-free existence. 

Vijay Batra Karmalogist does not promote or teach harmful black magic through Napoo healing. This technique is for those who have been affected by paranormal world. Napoo is totally different from all other healing techniques. Napoo is effective when all other healing and remedies have failed.

Napoo Yantra is also used for protection from all types of negative energy and it can be collected for free of cost from VIJAY BATRA ‘KARMALOGIST’

To do Napoo healing you need to follow few things like,

  • Use of rings, threads or talisman is prohibited. All types of mascots, talismans, ash or Yantra should be drained away in running water (sea, ocean, river, etc.)
  • One should abstain from any other type of remedy or healing while doing Napoo elemental healing. All remedies, mantras, prayers, chants should be immediately stopped.
  • For complete protection by Napoo, no mascots, Yantra, chanting of mantras or prayers must be used/done. For quicker results, do not tell about your treatment to anyone and must be done secretly.

When you are a victim of black magic, curse or spirit problems, you can contact Napoo Healing Expert (Paranormalist) Vijay Batra Karmalogist to get assistance. You can call directly to fix an appointment to discuss your problems one to one. If you reside outside Delhi or India, you can connect through video calling to get suitable remedies according to your problems.

Direct Call: (+91) 8800357316

WhatsApp number : (+91) 9811677316

 

Advertisements
awakening · Coach · Counselling · course · Delhi · education · enlightenment · Hindi · Karmalogist · life coach · Master · mentor · Moksha · Motivational Speaker · New Delhi · Paschim Vihar · Shunya · speaker · Spiritual · Spirituality · Teacher · therapist · Uncategorized · vijay batra · Vijaybatra

Karma Wellness by Karmalogist™ Vijay Batra, New Delhi, INDIA

Karma Wellness by Karmalogist™

Karma Reading            

This is to know symptoms and reasons of current sufferings.

 

Karma Balancing         

This is a rare way to balance positive and negative consequences.

 

Karma Improving       

This is to improve daily acts that are affected by superstitions.

 

Karma Swapping           

This is to escape from unwanted consequences of other’s Karmas.

 

Karma Transferring     

This is a unique way to transfer your good Karmas to protect others.

 

Karma Uplifting          

This is for spiritual awakening and to get Salvation.

 

Karma Handling          

This is to improve and develop relationships.

 

Karma Remedying     

This is to eradicate malefic effects of past karmas.

 

To join Karma Wellness Program Contact

Vijay Batra Karmalogist

M: +91 – 9811677316

 

awakening · Blog · Counselling · education · enlightenment · healer · Healing · Hindi · Karmalogist · life coach · mentor · Moksha · Motivational Speaker · New Delhi · Panth · Paschim Vihar · Religious · Shunya · Shunyapanth · speaker · Spiritual · Spirituality · Teacher · therapist · Uncategorized · vijay batra · Vijaybatra

Topics of Spiritual Education by Vijay Batra karmalogist

Karmalogist Vijay Batra started College of Spiritual Education in 2004 to help others understand self-spiritual level for upliftment and enlightenment of the Soul. This education is totally different from all other traditional teachings and orthodox beliefs. It provides answers to all those questions which are still considered unanswerable.

Karmalogist helps to escape from all superstitions related to astrology and illogical belief of planets and remedies. He is committed to show the right path with natural methods to save time, money and energy which people spend unnecessarily because of wrong guidance in life. Karmalogist explains positive and negative effects for every type of remedy and can be consulted when one is confused, depressed or scared.

Topics of Spiritual Education by Vijay Batra karmalogist

  1. Religion & Spirituality.

Both are different, not one. People are confused about religion & spirituality; both are being misused these days.

  1. Past, Present & Other Karmas.

A soul bears many types of consequences of Karmas which people want to know. They also want to know about the Salvation and existence of the Soul.

  1. Negativity & Positivity.

There are two types of energies in the world, Negative & Positive. People want to know the right use of energies to balance karmas & to face its consequences.

  1. Worldly Things

People are unaware how to be happy & satisfied with what they have and how much they should attach to worldly things.

  1. Problems & Circumstances

People are scared of problems & circumstances and do not know how to deal with them spiritually.

  1. Superstitions and Beliefs

People are confused about virtue-sin, right-wrong due to which superstitions and stereotype beliefs are spread causing harm to the karma of people. Logical knowledge to eradicate and counter such superstitions and beliefs.

  1. Soul and evil Spirits

Difference between ordinary soul and special soul, secret of evil spirits 

Courses available:

  1. Zero Learning
  2. Karma wellness
  3. Napoo Healing

Contact to join spiritual education

Vijay Batra Karmalogist

 

awakening · Blog · Coach · Counselling · course · Delhi · divine · education · enlightenment · healer · Healing · Hindi · Karmalogist · life coach · Master · mentor · Moksha · Motivational Speaker · Napoo · New Delhi · Panth · Paschim Vihar · Path · program · quotes · reader · Shunya · Shunyapanth · speaker · Spiritual · Spirituality · Teacher · therapist · Uncategorized · vijay batra · Vijaybatra

कर्म शिक्षा Karma Education by Karmalogist Vijay Batra

कर्म शिक्षा (Karma Education)

संसार के अधिकतर लोग अपने दैनिक (daily) कर्मों को सुधरने के लिए कोई कार्य नहीं करते है | लगभग सभी लोग अपनी आवश्यकता या विवशता के कारण ही कर्म करते है | यदि दैनिक कर्मों में होने वाली गलतियों को ही सुधार जाये तो पिछले जन्मों में हुए कर्मों के बुरे फल से बचा जा सकता है |

कुछ विशेष प्राप्त करने के लिए विशेष दैनिक कर्म करने की आवश्यकता है | दैनिक कर्म अंधविश्वास या तर्कहीन मान्यताओं पर आधारित होगा तो कर्मफल निराशाजनक मिलेगा और यदि कर्म तर्कसिद्ध होगा तो कर्मफल हितकारी होगा |

संसार के अधिकतर लोग पाप-पुण्य और सही-गलत जैसी चीजों के बारे में भ्रमित हैं क्योंकि सभी बातें एक पहलू से सही और दूसरे पहलू से गलत लगती है । अंधविश्वासों और रूढ़िवादी विश्वासों के कारण लोगों के कर्मों में बहुत अधिक भावनात्मक नुकसान हो रहा है इसलिए ऐसे अंधविश्वासों को समाप्त करने के लिए सटीक आध्यात्मिक ज्ञान की आवश्यकता है ।

दैनिक कर्मों को सुधारने के लिए किसी दुर्लभ ज्ञान की आवश्यकता नहीं है इसके लिए केवल मार्गदर्शक को तार्किक कर्मज्ञान और आध्यात्मिक ज्ञान होना आवश्यक है | पूर्ण मार्गदर्शक द्वारा व्यक्ति को आंतरिक संतुष्टि होने के साथ-साथ सही-गलत पहचानने के लिए आध्यात्मिक दृष्टि विकसित हो जाती है |

कर्म से सम्बंधित कुछ ऐसे प्रश्न हैं जिनका उत्तर सभी लोग जानना चाहते है और इनका उत्तर वही व्यक्ति दे सकता है जिसके पास सम्पूर्ण कर्मज्ञान हो | इनमे कुछ मुख्य प्रश्न है :

  • दूसरों द्वारा मिले आशीर्वाद या श्राप अपने किए कर्मों के फल को कैसे बदल देता है ?
  • एक ही प्रकार के कर्म का फल, दो व्यक्तियों के लिए अलग-अलग क्यों होता है
  • अच्छे कर्म या बुरे कर्म की वास्तविकता क्या है, क्योंकि जो कर्म एक व्यक्ति के लिए सही है वही दूसरे के लिए सही नहीं है |
  • मनुष्य अपने पिछले जन्मों के कर्मों का फल लाखों योनियों में भुगत कर भी इस जन्म में किन कर्मों का फल भोगता है ?
  • जिन कर्मों का फल नहीं मिलता वह कर्म कहाँ जाते है और कुछ कर्मफल बिना इच्छा किए कैसे मिलते है |
  • किन कर्मों का फल मनुष्य जीवन में मिलता है और किन कर्मों का फल मनुष्य जीवन में नहीं मिलता है |
  • जीव द्वारा किए जाने वाले कर्म का फल सकारात्मक होगा या नकारात्मक यह कैसे निश्चित होता है ?
  • किसी भी संबंध बनने के पीछे किस प्रकार के कर्मफल होते है और संबंध का समाप्त होना या अधिक गहरा होना कैसे निश्चित होता है ?
  • सभी जीवों में आत्मा एक सामान है फिर आत्माओं को पुरुष या स्त्री का शरीर कैसे मिलता है और पुरुष-महिला के कर्मफल में भिन्नता क्यों है ?
  • कर्मफल कितने प्रकार के होते है और पिछले जन्मों के कर्मफल का नकारात्मक प्रभाव कैसे बदल सकता है ?

दैनिक कर्म के आधार पर जीवन में मिलने वाले कर्मफल और कर्मफल के प्रभाव को बदला जा सकता है और अगले जन्मों में मिलने वाले कर्मफल को सकारात्मक रूप दिया जा सकता है |

Contact for Karma Education

M: 9811677316, 8800357316

Vijay Batra ‘Karmalogist’

Founder of College of Spiritual Education™

 

 

 

Healing · Hindi · Karmalogist · Napoo · Spiritual · therapist · yantra

Napoo Healing in Hindi – Karmalogist Vijay Batra

Napoo Foundation ने तत्व आधारित गूढ़ उपचार विधि (Healing Technique) विकसित की है जो नकारात्मक ऊर्जा(Negativity) और दुष्ट शक्तियों(Evil Powers) को स्थायी रूप से समाप्त करने के लिए अति लाभकारी है | Napoo सभी प्रकार की अशुभ परिस्थितियों और असहनीय दुखों से सम्पूर्ण राहत प्रदान करता है क्योंकि यह एक गुप्त(Secretive) आध्यात्मिक तकनीक(SpiritualTechnique) है |

Napoo healing भारतीय मूल की तत्व आधारित विश्व की एकमात्र तात्विक healing पद्धति है जो विशेष रूप से उन लोगों के लिए है जो नकारात्मक शक्तियों और हानिकारक ऊर्जा से प्रभावित है | इसे Napoo Foundation द्वारा गुप्त रहस्यमयी विषयों पर कई वर्षों के गहन शोध (Reserch) के बाद शुरू किया गया है । Napoo Foundation की स्थापना श्री विजय बतरा “Karmalogist’ ने 2004 में इस उद्देश्य से की थी कि बुरी नज़र, टोना टोटका, मंत्रघात, श्राप, प्रेतात्माओं इत्यादि नकारात्मक शक्तियों से होने वाली पीड़ा और कष्टों के लिए संसार में भयमुक्त और कम खर्च वाली उपचार पद्धति उपलब्ध हो |

Napoo Healing उपचार पद्धति के पीछे मूल अवधारणा यह है कि हमारा शरीर पंचतत्वों (अग्नि, वायु, जल, पृथ्वी और आकाश) से बना है इसलिए जब किसी व्यक्ति पर नकारात्मक शक्ति या ऊर्जा का प्रभाव होता है तब शरीर के तत्व असंतुलित हो जाते हैं जो मानसिक, शारीरिक और आर्थिक समस्याओं का कारण बनते है इसलिए यदि शरीर के सभी तत्व संतुलित हो जाये तो जीवन में कोई भी समस्या नहीं होगी | सभी पंचतत्वों को संतुलित करने से ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव और दूसरों द्वारा होने वाली हानि भी अपने आप समाप्त हो जाती है | भारत में एक ही Napoo healing केंद्र है जिसमे सभी समस्याओं के लिए तत्व उपचार करने के अतिरिक्त श्री विजय बतरा “karmalogist’ द्वारा इच्छुक लोगों को तात्विक Napoo healing शिक्षा दी जाती है ।

दूसरों की नकारात्मक ऊर्जा का सभी लोगों की समस्याओं से बहुत गहरा सम्बन्ध है क्योंकि जीवन में उत्पन्न होने वाली अधिकतर समस्याएं दूसरों की नकारात्मक ऊर्जा के कारण ही होती है | दूसरों के विचार, दूसरों की गति और दूसरों का स्वभाव, शारीरिक तत्वों को प्रभावित करके व्यक्ति को गुप्त रूप से संचालित करता है | आकाशगंगा में स्थित ग्रह भी अपनी सूक्ष्मकिरणों द्वारा शरीर के तत्वों को निरंतर प्रभावित करती है जिससे प्रतिदिन नई समस्या का सामना करना पड़ता है | इसी प्रकार पृथ्वी ग्रह और पृथ्वी पर स्थित सभी जीवों और वस्तुओं द्वारा शारीरिक तत्व असंतुलित होते रहते है |

Napoo Foundation के संस्थापक श्री बतरा जी ने कई सालों तक तत्व विज्ञान के बारे में खोज की और समस्या के आधार पर तत्व प्रयोग विधि विकसित की है जो यह सुनिश्चित करती है कि कौन सी समस्या के लिए किस तत्व का (कितना और कैसे) प्रयोग करना चाहिए | किसी समस्या के लिए तत्वविधि को विकसित करके उसको प्रयोग करने वाले विश्व भर में एकमात्र व्यक्ति श्री बतरा जी है | Napoo तात्विक हीलिंग पद्धति द्वारा ग्रहों के नकारात्मक फल और बुरी नज़र(Evil eye), टोना-टोटका(Black Magic), मंत्रघात(Spells) श्राप(Curse) प्रेतात्मा(Spirit) से स्थायी रूप से छुटकारा मिलता है | Napoo हीलिंग का किसी धर्म से कोई सम्बन्ध नहीं है यह किसी भी व्यक्ति को उसके धार्मिक या आध्यात्मिक विश्वासों को बदलने के लिए नहीं कहता है और यह तात्विक healing अन्य सभी प्रकार की healings और अनुष्ठानों से बिलकुल अलग है |

वर्तमान समय में नकारात्मकता और तंत्र प्रभाव समाप्त करने के लिए Napoo healing सबसे सटीक और प्रभावी healing है जो अपनी अद्वितीय तात्विक प्रणाली और स्थायी परिणामों के कारण विश्व में बहुत तेज़ी से प्रचलित हो रही है | Napoo  healing नकारात्मकता और दुष्ट शक्तियों से सुरक्षा देने वाला अति प्रभावकारी तरीका है जिसका उपयोग कोई भी व्यक्ति किसी भी समय और किसी भी मानसिक पीड़ा या शारीरिक कष्ट के लिए कर सकता है यह सभी प्रकार की अशुभ स्थितियों और दुखों से उत्कृष्ट राहत प्रदान करता है क्योंकि यह सबसे गुप्त आध्यात्मिक तकनीकों में से एक है जो अंधविश्वास और आधे अधूरे ज्ञान पर आधारित नहीं है |

Napoo का उपयोग कर सकते है :

  • जब कोई परिवार के सदस्यों के बीच संघर्ष पैदा करने के लिए नकारात्मक ऊर्जा का प्रयोग करता है
  • जब कोई पति-पत्नी के बीच अलगाव पैदा करने के लिए अनावश्यक कारण बनाता है
  • जब कोई आपकी सफलता को रोकने के लिए नकारात्मक शक्तियों के माध्यम से बाधा पैदा करता है
  • जब किसी की नकारात्मक ऊर्जा आपको शारीरिक रूप से हानि पहुँचाती है या आप हमेशा बीमार महसूस करते हैं, लेकिन चिकित्सा रिपोर्ट वास्तविक समस्या को पहचानने में विफल होती है
  • जब सभी अन्य चिकित्सा तकनीक नकारात्मक ऊर्जा को समाप्त करने के लिए पर्याप्त नहीं हैं
  • जब कोई आपके मन और शरीर को नियंत्रित करता है और आपको गलत गतिविधियों या गलत फैसलों में खींचता है
  • जब सभी उपाय व आशीर्वाद निष्फल हों और शुभकर्म करने पर भी कोई सकारात्मक परिणाम प्राप्त नहीं होता है
  • जब कोई प्रार्थना या आशीर्वाद, नकारात्मक ऊर्जा और मस्तिष्क प्रोग्रामिंग के खिलाफ काम नहीं करता है
  • जब आपका मन सोचने में असमर्थ है, तो हमेशा भ्रमित और भयभीत है
  • जब आपकी आभा नकारात्मक शक्तियों को आकर्षित करता है जो मस्तिष्क और दुर्भाग्य का कारण बन जाता है
  • जब केवल नकारात्मक विचार सच हो जाते हैं और आप सकारात्मक सोचने में असमर्थ होते हैं
  • जब घर में नकारात्मकता और भारीपन महसूस हो रहा है, तो सभी रिश्तों में झगड़े, तर्क और मतभेद पैदा हो जाते हैं।
  • जब नकारात्मक ऊर्जा सभी कुछ स्थायी रूप से नियंत्रित कर लेती है जिससे चेहरे और घर की चमक समाप्त हो जाती है

Napoo healing और Napoo Learning के लिए संपर्क करें |

विजय बतरा Karmalogist

Founder : Napoo Foundation

Copyrights (C) All Rights Reserved.

 

healer · Healing · Karmalogist · New Delhi · Spiritual · therapist · Uncategorized

Feel free ask for Napoo healing to finish your problems.

Vijay Batra karmalogist says that our body is made of elements, like, fire, air, water, earth and sky. When someone is attacked by negative force, one or two body elements get imbalanced which cause mental, physical and financial problems.

Napoo eradicates negative effect through element balancing healing techniques and it creates strong aura layers for further protection from such attacks. Napoo is an element based secretive technique of spiritual healing.

Napoo healing works for removal of evil eye, curse, black magic, spells and bad spirits and for permanent protection from such negative forces through element based healing and elementary remedies.

Napoo Healing was initiated in 2004 by Vijay Batra Karmalogist after many years of research on the invisible occult world. Napoo is originally from India and this element based healing  therapy was started with the aim to finish all kinds of negative powers. Napoo healing therapy is growing very fast in the world, because of tremendous results.

Napoo is not a religion and does not ask to change your religious or spiritual beliefs. This technique differs from other healing techniques and orthodox rituals.

Vijay Batra Karmalogist provides Napoo healing weekly and monthly program for personal protection and family protection.

Contact for Napoo Healing

awakening · Blog · Counselling · course · education · enlightenment · healer · Healing · Karmalogist · life coach · Motivational Speaker · Napoo · New Delhi · Paschim Vihar · Spiritual · therapist · vijay batra · Vijaybatra

Napoo Healing Online – Karmalogist Vijay Batra

Napoo removes all types of negative energies and gives permanent protection from evil energy and nasty powers.

There is two part of Napoo Learning, first is academic lectures with complete secretive knowledge of active evil world.

After completed first part, you will have a clear understanding of negative energy, evil eye, curse, black magic and bad spirits.

Second part of Napoo learning is activation of Napoo power, use of elements with Napoo tool, and benefits of Napoo Symbol.

After completed second part, you can protect yourself from evil problems without depending on any other healer or remedy.

Napoo is also for those, who want mysterious enlightenment and extreme expertize to recognize evil problems.

Napoo Foundation

Founder : Karmalogist Vijay Batra